Meta Tags in SEO | Meta Title and Description in Hindi


Meta Tag Html के Head Section में use होने वाला एक element है जो कि सर्च इंजन में कुछ सर्च करने के बाद webpage या website के बारे में इनफार्मेशन देता है| इसे meta data tag भी कहा जाता है| यह सर्च इंजन को webpage के content की जानकारी देता है|

यदि आपको आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का meta tag देखना है तो आप वेबसाइट के backend में source code के head सेक्शन में check कर सकते है|    

Meta Tag को meta data tag भी कहा जाता है|


Meta Tag कैसे create करते है? 

Meta Tag create करने के लिए यहाँ Click करे

क्लिक करने के बाद आप एक page पर पहुँच जायेंगे| उसी page पर थोडा निचे आइये तब आपको एक tool दिखाई देगा जो कुछ इस प्रकार है-

अब आप अपने ब्लॉग का डिस्क्रिप्शन डाले फिर उससे related keyword, keyword को आप , लगाकर अगल कर सकते है| सारी इनफार्मेशन fill करने के बाद create metatags पर क्लिक करे तो आपको कुछ इस प्रकार का code मिलेगा -

<b:if cond='data:blog.url == data:blog.homepageUrl'>
<META NAME="Description" CONTENT="Meta Tag Html के Head Section में use होने वाला एक element है जो कि सर्च इंजन में कुछ सर्च करने के बाद webpage या website के बारे में इनफार्मेशन देता है|" />
</b:if>
<META NAME="Keywords" CONTENT="Meta Tags in SEO, Meta Title and Description in Hindi" />
<META NAME="Robots" CONTENT="All" />

अब आप वहां से वह code कॉपी करके अपनी वेबसाइट के head section में past करके Save बटन पर click करे आपका meta tag वेबसाइट या ब्लॉग में submit हो जायेगा|
चलिए अब हम बात करते है Meta Title और Meta Description के बारे में, जो कि SEO के important factors में आते है तथा यह Website और Blog की Search Engine Ranking में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते है| 

Meta Title & Description क्या है?  

जब आप किसी सर्च इंजन में या गूगल सर्च इंजन में कोई query search करते है तो आपको कुछ इस प्रकार दिखाई देता है-
इसमें जो blue color में लिखा है वह meta title है और जो उसके निचे लिखा है वो meta description है| 

Title webpage के बारे में short में बताता है कि उस page में क्या है
Title tag लिखते समय निचे लिखी कुछ बातों का ध्यान देना चाहिए

  • Title लिखते समय हमें title में केवल 50 से 60 character ही लिखना चाहिए इससे बड़ा title नही बनाना चाहिए क्योकि गूगल result page में इतने ही characters दिखता है|
  • Title unique होना चाहिए जिसमे primary और secondary keywords का use अवश्य करना चाहिए|
Title के निचे जो लिखा है वह डिस्क्रिप्शन है, Description लिखते समय निचे लिखी कुछ बातों का ध्यान देना चाहिए|
  • डिस्क्रिप्शन  tag की length 160 character के बिच ही रहना चाहिए|
  • प्रत्येक page का डिस्क्रिप्शन unique होना चाहिए|
  • Best quality का डिस्क्रिप्शन लिखना चाहिए और secondary keyword का भी use करना चाहिए|










Search Results

Web results

Search Results

Web results


Post a Comment

2 Comments